Sale!

मैं बोल रहा हूं

75.00 30.00

in stock

स्वजनकी मृत्यु पश्च्यात परिवारके लोग मृतककी यादमे दुःखी होते है तब उसी मृतककी आत्मा अपने स्वजनों के साथ बात करके उनके मनमे बसी मृत्युकी भयावहताको दूर करती है. इस विचारधारावाली नवलकथा है “में बोल रहा हु.”



SKU: 0000228 Category: Tags: |

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “मैं बोल रहा हूं”